• Things to do
  • Places to visit
  • Hotels and resorts
  • Honeymoon packages
  • Holiday packages
  • Real Traveler Stories

    Temples of mathura

    मथुरा, हिंदुओं के सबसे चहेते, श्री कृष्ण का जन्मस्थल है। रास-रचैया, गिरिधर, गोपाल, कन्हैया – ऐसे अनगिनत नाम हैं इनके। अपनी चंचल बातों से सबको मोहित कर, ये सबके चहेते बन जाते थे। रास लीला हो या जन्माष्टमी व होली का पर्व यहाँ सब बड़े ही भव्य तरीके से मनाया जाता है। यह भारत के पवित्र स्थलों में से एक है। मुरलीधर जब बंसी बजाते थे तब सब दीवाने हो जाते थे और पूरा मथुरा उस स्वर से गूँज उठता था। उस मधुर स्वर की गूँज जैसे आज भी कानों में सुनाई पड़ती है। मथुरा के मंदिर अभी भी श्री कृष्ण की स्मृति बाँधे हुए है। इसी स्मृति से मथुरा का हर कोना पुलकित हो उठता है।

    मथुरा का इतिहास

    History Of Mathura

    कृष्ण नगरी से जुडी ऐसी अनेकों कथाएँ हैं कि भगवान कृष्ण ने हमेशा बुराई का विनाश करते हुए मथुरा वासियों की सहायता की है। अपने मामा कंस द्वारा किए गए सभी दुराचार का मुँह तोड जवाब देकर उसे सबक सिखाया है। जब-जब मथुरावासियों पर संकट आया श्री कृष्ण उन सभी संकटों से लोगों को मुक्त करवाया। यह स्थान कृष्ण की अनगिनत महान कथाओं का प्रमाण है। जिन्हें लोगों ने आज भी याद रखा है और समय-समय पर इनका संचार किया है।

    10 मथुरा के मंदिर

    यहाँ का माहौल भक्ति-भाव में डूबोने वाला है। जहाँ आकर आप मन की शांति पाऐंगे। मथुरा जी के मंदिर विश्वभर में प्रसिद्ध हैं। उन्हीं में से कुछ मंदिरों की सूची यहाँ दी गई है:

    1. श्री कृष्ण जन्मभूमी मंदिर

    Sri Krishna Janam Bhumi Temple

    ये वही स्थान है जहाँ श्री कृष्ण ने जन्म लिया था। मथुरा के मंदिर में इसका सर्वोच्च स्थान है। यहाँ के स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मंदिर का निर्माण राजा वीर सिंह बुंदेल ने करवाया था जो श्री कृष्ण के ही वंशज थे। यहाँ कंस का पत्थर से बना बड़ा कारावास है। यहाँ का सबसे आकर्षक मंदिर का वो छोटा कारावास है जहाँ कृष्ण का जन्म हुआ था। यह मंदिर अपनी पवित्रता से आपके रोम-रोम को साधना में लीन कर देगा। बहुत ही खुबसूरती से इसे बनाया गया है। यहाँ कृष्ण की सफ़ेद मार्बल से बनी मूर्ति है जो अपने अस्तित्व का परिचय देती है। यहाँ आने का सबसे उचित समय है जन्माष्टमी व होली का पर्व। ये त्योहार भव्यता से यहाँ मनाया जाता है।

    और जानें: Holi In Mathura


    Looking To Book A Holiday Package?

    Book memorable holidays on TravelTriangle with 650+ verified travel agents for 65+ domestic and international destinations.


    2. द्वारकाधीश मंदिर

    Dwarkadhish Temple

    यह भारत का मशहूर व ऐतिहासिक पवित्र स्थल है जो श्री कृष्ण को समर्पित है। इस मंदिर का यह नाम इसलिए पड़ा क्योंकि कृष्ण द्वारका में आकर बस गए और उन्होंने अपनी आखरी साँस भी यहीं ली। मंदिर में काले मार्बल से बनी कृष्ण की प्रतिमा है और उसी के समीप सफ़ेद मार्बल से बनी उनकी प्रिय राधा की प्रतिमा भी है जिनकी सुंदरता अतुल्नीय है। इसलिए यहाँ मथुरा के मंदिर की फोटो लेना आवश्यक हो जाता है। श्रद्धालु यहाँ अधिकतर जन्माष्टमी के अवसर पर आते हैं क्योंकि उस वक्त यहाँ का नज़ारा आँखों में घर कर जाता है।

    3. प्रेम मंदिर

    Prem Templre

    मथुरा वृंदावन यात्रा करते वक्त अगर आप मथुरा का प्रेम मंदिर देखना भूल जाते है तो आपको पछतावा होगा। भगवान के प्रति प्रेम को समर्पित है यह मंदिर। मंदिर में राधा-कृष्ण व राम-सीता की मूर्तियाँ हैं। मंदिर का माहौल शांतिपूर्ण है जो अंतःकरण तक शांति का संचार कर देगा। 2001 में इस मंदिर को जगदगुरु श्री कृपालुजी महाराज ने आकार दिया। बृजवासियों की उपस्थिति से आरती के समय का माहौल आध्यात्मिकता में लीन कर देता है। सफ़ेद मार्बल से बने इस मंदिर की वास्तुकला भी तारीफ के काबिल है।

    और जानें: Kerala In March

    4. गीता मंदिर

    Geeta temple

    यह मंदिर बिरला मंदिर के नाम से भी प्रसिद्ध है। मथुरा के मंदिर में यह मंदिर भी विशेष है। इस मंदिर का मुख्य आकर्षण है मंदिर की दीवारों पर श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को युद्ध भूमि में दिए गए उपदेशों की नक्काशी। जिसे बड़ी महीनता व कुशलता के साथ दीवारों पर बनाया गया है। मंदिर में प्रवेश करते ही स्तंभों पर लिखे भगवद्गीता के 18 अध्यायों के आप साक्षी बनेंगे। मंदिर का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से भारतीय व पाश्चात्य वास्तुकला से किया गया है। यहाँ कृष्ण, नारायण, राम, लक्ष्मी व सीता की मनोरम मूर्तियाँ मौजूद हैं।


    Planning your holiday but confused about where to go? These travel stories help you find your best trip ever!

    Real travel stories. Real stays. Handy tips to help you make the right choice.


    5. बाँके बिहारी मंदिर

    Banke Bihari temple

    बाँके बिहारी-श्री कृष्ण का एक और नाम जिसका अर्थ है: परम आनंदकर्ता। सबको आनंद देने वाला। यहाँ आप मदमस्त होकर खड़े श्रीकृष्ण को हाथ में बाँसुरी लिए हुए देखेंगे। कृष्ण जब बेहद खुश होते थे तब वह आनंदित होकर बाँसुरी बजाते थे। इसी को यहाँ प्रतिमा का आकार दिया गया है। जिसे देखकर आपके चहरे पर भी मुस्कुराहट आ जाएगी। मंदिर के मुख्य प्रवेश पर गहरे पीले व भूरे रंग की पारंपरिक डिज़ाइन बनाया गया है। यह मंदिर का मुख्य आकर्षण है।

    और जानें: Bollywood Locations In India

    6. नीधिवन मंदिर

    Nidhivan Temple

    यह मंदिर धार्मिक यात्रियों के साथ-ही-साथ प्रकृति प्रेमियों के लिए भी आकर्षण का केंद्र है। मंदिर के चारों तरफ पेड़-ही-पेड़ हैं जो ताज़गी का एहसास कराते हैं। यह मान्यता है कि सूरज ढलने के बाद मंदिर का प्रवेश द्वार बंद कर दिया जाता हैं क्योंकि उस वक्त श्री कृष्ण राधा व गोपियों के साथ रासलीला करते हैं। यह एक रहस्यात्मक मंदिर है जिसकी पहेली अभी तक सुलझी नहीं है। इसी कारण यह मंदिर चर्चा का विषय बना रहता है।

    7. महाविद्या देवी मंदिर

    Mahavidya Devi Temple

    यह मथुरा देवी का मंदिर है जो पहाड़ों पर स्थित है जहाँ तक पहुँचने के लिए 30-40 सीढ़ियाँ का रास्ता है। माना जाता है कि नंद बाबा जिन्होंने श्री कृष्ण का पालन किया था यह उनकी कुल देवी है। नंद इनकी पूजा-अर्चना करने यहाँ आते थे। मंदिर की आकृति बहुत ही सरल है पर इसकी भी एक अलग मान्यता है। इसलिए यह यात्रियों के बीच प्रचलित है। मंदिर में सफ़ेद मार्बल से बनी देवी की मूर्ति है जिनकी आँखों में दैव्य चमक है।

    और जानें: Food Trucks In India

    8. श्री रंगजी मंदिर

    Shri Rangji Mandir

    वृंदावन का सबसे बड़ा मंदिर जो भगवान विष्णु को समर्पित है। द्रविड़ वास्तुकला से इस मंदिर के हर कोने को कुशलता से बनाया गया है। मंदिर में विष्णु की शेषनागों के नीचे विश्राम करते हुए एक सुंदर प्रतिमा है। इस पावन मंदिर में राम, लक्ष्मण, सीता, नरसिंहमा, वेणुगोपाल, रामानुजाचार्य की मूर्तियाँ भी हैं। मंदिर के नियम काफी सख्त है तो आपको नियमों का पालन करना होगा।

    और जानें: Diwali In India

    9. श्री कृष्ण बलराम मंदिर

    Shree Krishna Balram Temple In Mathura

    प्रवेश द्वार के दोनों तरफ बने मोर आपका स्वागत करने के लिए बनाए गए हैं। सफ़ेद मार्बल से बना यह मंदिर अपनी आकर्षक वास्तुकला का प्रमाण देता है। मंदिर के तीन अल्तर है-पहले में श्री श्री गौरा निताई की प्रतिमा है। दूसरे में कृष्ण व बलराम की मूर्ति है व तीसरे में श्री श्री राधा श्याम सुंदर और गोपी-विशाखा व ललिता की मूर्ति है।

    और जानें: Places In India To Celebrate New Year

    10. श्री राधा वल्लभ मंदिर

    Shri Radha Vallabh

    आज से 450 वर्ष पूर्व मथुरा जिला में इस मंदिर का निर्माण हुआ। वृंदावन और राजस्थान वासियों के मन में इस मंदिर की बहुत मान्यता है। यह भी मथुरा का महत्वपूर्ण मंदिर है। यहाँ भक्ति-भाव के संगीतों से माहौल आध्यात्मिक बना रहता है। आप यहाँ आकर बहुत शांताप्रिय वातावरण पाऐंगे। मथुरा आकर आपको कुछ समय इस मंदिर को भी देना चाहिए।

    और जानें: Delhi To Shimla Trains Guide

    श्री कृष्ण की पावन भूमि पर आकर हर व्यक्ति आनंदमयी महसूस करता है। ठीक उसी तरह जैसा कृष्ण का स्वभाव था। आप कुछ क्षण के लिए इस मधुरमय वातावरण के कायल हो जाऐंगे। मथुरा के मंदिर आपको हर पल कृष्ण के होने का आभास करवाऐंगे। अगर आप कृष्ण भक्त है तो आपको अपने कुछ दिन यहाँ ज़रूर बीताने चाहिए। अपनी मथुरा यात्रा के लिए ट्रैवल ट्राऐंगल से बुकिंग कीजिए।


    Looking To Book An International Holiday?

    Book memorable holidays on TravelTriangle with 650+ verified travel agents for 65+ domestic and international destinations.


    Comments

    comments

    Category: Places To Visit

    Best Places To Visit In India By Month

    Best Places To Visit Outside India By Month