Written by

उदयपुर भारत का ऐसा शहर जो उत्कृष्ट और शानदार महलों के लिए प्रसिद्ध है। अगर आप उदयपुर दर्शनीय स्थल की यात्रा करने आऐंगे तो, यकीनन आपको कुछ समय के लिए राजा-महाराजाओं जैसा आभास होने लगेगा। मनोरम सौंदर्य से लोभित नज़ारा आपके मन को एक ऐसी स्मृति से भर देगा जिसे आप चाहकर भी भुला नहीं पाएंगे।

40 उदयपुर दर्शनीय स्थल

उदयपुर में मौजूदा राजस्थानी संस्कृति में रंग जाने का एहसास आपको अपनी ओर खींचकर ले आएगा। आइए अब उदयपुर में घूमने के स्थान की सूची पर ध्यान एकत्रित करें:

1. पिचोला झील (Pichola Lake)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में से एक पिचोला झील पर सूर्यास्त का दृश्य शानदार होता है

वैसे तो यह एक कृत्रिम झील है पर इसका प्राकृतिक दृश्य देखकर आपको यह किसी वास्तविक झील से कम नहीं लगेगी। संध्या के समय नाव की सवारी किए बिना आपकी यह यात्रा अधूरी है क्योंकि, इस सवारी से आपको एक अनोखा नज़ारा देखने मिलेगा। शाम के वक्त इमारतों और पानी पर पड़ती सूरज की किरणों से हर तरफ का नज़ारा सुनहरा हो उठता है और आप इसकी शोभा देखकर मोहित हो जाएंगे। प्रकृति प्रेमियों को ये जगह भा जाएगी।

किसने बनवाया: बंजारा
कब बनवाया: 1362 ई
स्थान: उदयपुर पिछोला झील, 313001
खुलने का समय: सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: वयस्क के लिए प्रति घंटा 300/- रूपये, बच्चों के लिए प्रति घंटा 150/- रूपये

और जानें: Places To Visit In Udaipur


Rajasthan Holiday Packages On TravelTriangle

Explore Rajasthan, the land of Maharajas. Experience its royal cultural heritage, luxurious hotels, camel safaris, pristine lakes, and magnificent forts and palaces. Cover the best of Jaipur, Udaipur, Jodhpur, Jaisalmer, Pushkar and Ranthambhore at best prices with TravelTriangle.


2. सिटी पैलेस (City Palace)

भव्य सिटी पैलेस अपनी शाही और शानदार वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है

पिचोला झील के किनारे बसे इस महल को राजस्थान का सबसे बड़ा महल माना जाता है। बड़े-बड़े आलीशान कमरे, हैंगिंग गार्डन, संग्राहलय आपको एक उच्च कोटी के राज घराने का एहसास कराऐंगे। महल की अद्भुत मूर्तियां और रंग-बिरंगी तस्वीरें आपको नये ढंग से इसके इतिहास से परिचय कराएगी। अगर आप प्राचीन काल के विषय में जानने के इच्छुक हैं तो आप यहाँ आकर महाराना उदय सिंह के बारे में जानकर अपनी जानकारी में वृद्धि कर सकते हैं।

किसने बनवाया: महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय
कब बनवाया: 1727
स्थान: तुलसी मार्ग, गंगोरी बाज़ार, जे.डी.ए. मार्केट, पिंक सिटी, जयपुर, राजस्थान 302002
घूमने की अवधि: 2-3 घंटे
खुलने का समय: सुबह 9:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक
शुल्क: वयस्कों के लिए 30 रुपये, बच्चों के लिए 15 रुपये और कैमरे के लिए 200 रुपये

3. सज्जनगढ़ पैलेस (Sajjangarh Palace)

उदयपुर दर्शनीय स्थल मॉनसून पैलेस की भव्य इमारत पहाड़ियों पर स्थित है

उदयपुर की सरहद पर बसा यह महल मेवाड़ वंश का स्थल है। इस महल का नाम इसके संरक्षक महाराना सज्जन सिंह के नाम पर पड़ा। यह महल अरावली की पहाड़ियों की ऊँचाई पर बनाया गया ताकि मानसून के बादलों का पता लगाया जा सके और यही कारण हैं कि इसे मानसून महल भी कहा जाता है। इतनी ऊँचाई पर बसे होने के कारण आप यहाँ से पूरे शहर का दृश्य देख सकते हैं। ऊँचाई से शहर के टिमटिमाते छोटे-छोटे घर रात में इस दृश्य में चार चाँद लगा देंगे।

किसने बनवाया: महराण सज्जन सिंह
कब बनवाया: 1884
स्थान: 11मानसून कॉलोनी, सज्जन गढ़ रोड, मेवाड़ गढ़ होटल के पास, एकलव्य कॉलोनी, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: प्रतिदिन खुला (सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक)
घूमने की अवधि: 2-3 घंटे
शुल्क: भारतीयों के लिए 10 रुपये और विदेशियों के लिए 80 रुपये

और जानें: Shopping In Udaipur

4. फतह सागर झील (Fateh Sagar Lake)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में खूबसूरत फ़तेह सागर झील के सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षणों में से एक है

उदयपुर दर्शनीय स्थल में इस झील का नाम भी शुमार है। यह उदयपुर की दूसरी बड़ी झील है। इसकी असीम सुंदरता आपके मन को सुकून देगी, ऐसा सुकून जो आप कहीं और नहीं पा सकेंगे। खूबसूरती की चादर ओढे़ आपकी चाहत इस जगह के प्रति और बढ़ जाएगी। नाव में सैर और कई अन्य जल संबंधी खेल आपका भरपूर मनोरंजन करेंगे।इसे तीन भागों में बाँटा गया है जिसमें- नेहरू पार्क, नाव के आकार का रेस्टोरेंट, बच्चों के लिए ज़ू आदि शामिल है।

किसने बनवाया: महाराणा जय सिंह
कब बनवाया: 1678
स्थान: उदयपुर 313001
खुलने का समय: सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
लागत: कोई शुल्क नहीं

5. विन्टेज कार म्यूज़ियम (Vintage Car Museum)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में विन्टेज कार म्यूजियम पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है

उदयपुर के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल में महाराणा प्रताप के वंशजों द्वारा चलाया गया ये संग्राहलय भी सम्मिलित है। मेवाड़ के आलीशान राज घराने की झलक इसमें भरपूर दिखती है। कारों के कुछ ऐसे मॉडल आपको यहाँ देखने मिलेंगे जो बेहद अनूठे है।ये सभी कारें देखकर आप इस बात का अंदाज़ा बखूबी लगा सकते है कि राजा-महाराजा इनके बेहद शौकीन रहे होंगे। अगर आप कारों के प्रति अपने मन में उत्सुकता रखते हैं तो आपको यहाँ ज़रूर आना चाहिए क्योंकि ऐसे विलुप्त मॉडल अब आप कहीं और तो देख पाएंगे नहीं।

किसने बनवाया: प्राणलाल भोगीलाल
कब बनवाया: 2000
स्थान: गुलाब बाग रोड, द गार्डन होटल के पास, पुराना शहर, शक्ति नगर, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: प्रतिदिन खुला (सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक)
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: INR 250 (वयस्क), INR 150 (बच्चे)

और जानें: Street Food In Udaipur

6. जगदीश मंदिर (Jagdish Temple)

जगदीश मंदिर

सिटी पैलेस में स्थित ये भगवान विष्णु का मंदिर है। मंझे हुए कलाकारों ने यहाँ की मूर्तियों को पत्थर पर इस प्रकार उकेरा है जैसे अभी ये बोल पड़ेंगी। यहाँ का शांतिपूर्ण वातावरण यात्रियों को अपनी ओर खींचता है। यहाँ की मुख्य मूर्ति जिसमें विष्णु को चार हाथों वाला बनाया गया है वो केवल एक ही काले पत्थर द्वारा बनाई गई है। इस मूर्ति को चार छोटी मूर्तियों ने घेर रखा है जो भगवान गणेश, सूर्य भगवान, शक्ति की देवी और शिव जी की है।

किसने बनवाया: महाराजा जगत सिंह
कब बनवाया: 1651
स्थान: 1 जगदीश मंदिर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 5:00 बजे से रात 9:00 बजे तक
शुल्क: कोई शुल्क नहीं
घूमने की अवधि: 1 घंटा

7. दूध तलाई म्यूज़िकल गार्डन (Dudh Talai Musical Garden)

उदयपुर दर्शनीय स्थल दूध तलाई म्यूजिकल गार्डन घूमने के लिए लोकप्रिय जगह है

इसकी आधुनिक वास्तु कला और संगीतमय फव्वारा पूरे राजस्थान में आकर्षण का केंद्र है। लोग इसे दीनदयाल पार्क के नाम से भी जानते है। अगर आप यहाँ आकर एक मनोरम नज़ारा देखना चाहते है तो केबल कार में बैठकर सूर्यास्त का दृश्य देखिए जो आपको बेहद सुहाना लगेगा और यही कारण है कि यात्री इस जगह खिंचे चले आते है। यह हफ्ते के सातों दिन खुला रहता है तो, आप किसी भी दिन जाकर ढलते सूरज की तस्वीर अपने कैमरे में कैद कर सकते है।

किसने बनवाया: याग्निक मैकेनिकल इंजीनियरिंग वर्क्स
कब बनवाया: 1995
स्थान: उदयपुर, राजस्थान
खुलने का समय: सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक
शो का समय: शाम 6 बजे से रात 8 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: प्रति व्यक्ति 10 रुपये

और जानें: Hotels In Udaipur

8. जैसामंद झील (Jaisamand Lake)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में उमियाम झील को पर्यटक दूर- दूर से दखने आते है

यह देश की दूसरी सबसे बड़ी कृत्रिम झील है जो जैसामंद वन्य जीव अभ्यारण से घिरी हुई है। आप इस झील के चंचल पानी को स्पर्श करने के साथ-ही-साथ वन में मौजूद कुछ अनोखे जीव और घूमंतू पक्षियों को देखने का अवसर भी प्राप्त कर सकेंगे। सोचिए इस शांत माहौल में चिड़ियों की चहचहाहट कितने मधुर संगीत की तरह लगेगी। इस झील का निर्माण राजा जय सिंह द्वारा 17वीं शताब्दी में करवाया गया था।राजा द्वारा करवाया.गया यह कार्य बेहद तारीफ-ए-काबिल है।

किसने बनवाया: महाराणा जय सिंह
कब बनवाया: 17वीं शताब्दी
खुलने का समय: सुबह 10.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: कोई शुल्क नहीं; नाव की सवारी के लिए 30 रुपये

9. गुलाब बाग व ज़ू (Gulab Bagh And Zoo)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में गुलाब बाग लोकप्रिय स्थानों में से एक है

यह ज़ू गुलाब बाग में स्थित है। यहाँ विभिन्न प्रकार के गुलाब देखने को मिलेंगे। बाग में ही एक छोटा ज़ू है जिसमें कुछ चुनिंदा जीवों को रखा गया है और बच्चों के आकर्षण के लिए यहाँ टॉय ट्रेन भी है। साथ ही बाग में कमल तलाई नामक एक कृत्रिम जल धारा भी है जिसके पास बैठकर आप शांति प्राप्त कर सकते हैं। धार्मिक अनुभूति के लिए इसके अंदर नवलखा महल है जो बुज़ुर्गों को भक्ति में डूबोएगा। अगर आप इस एक जगह आते है तो आप एक ही साथ अलग-अलग रुचियों के स्थान देख पाएंगे।

किसने बनवाया: महाराणा फ़तेह सिंह
कब बनवाया: 1881
खुलने का समय: सुबह 8:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: 25 रूपये प्रति व्यक्ति,चिड़िया घर घूमने के लिए प्रति व्यक्ति 5 रूपये और कैमरे के लिए 15 रूपये

और जानें: Romantic Things To Do In Udaipur

10. सहेलियों की बाड़ी (Saheliyon-Ki-Bari)

सहेलियों की बाड़ी में कमल तालाब इसे उदयपुर में घूमने के लिए एक लोकप्रिय स्थान बनाता है

फतह सागर झील के किनारे पर स्थित इस अत्यंत सौंदर्य पूर्ण बगीचे का निर्माण महाराणा संग्राम सिंह ने करवाया था। जैसा कि आप नाम से समझ पा रहे होंगे कि इसे उन सहेलियों के लिए बनवाया गया था जो विवाह के पश्चात राजकुमारी के साथ आई थी। फूलों की बिछी चादर,पानी के फव्वारें इस जगह को रमणीय बनाते है। सभी का मानना यह है कि अगर उदयपुर में सबसे मनोरम कोई जगह है तो वो यही है जहाँ आप अपने परिवार और मित्रों के साथ या अकेले भी जा सकते हैं।

किसने बनवाया: राणा संग्राम सिंह
कब बनवाया: 18वीं शताब्दी
स्थान: सहेली मार्ग, न्यू फतहपुरा, पंचवटी, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक।
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: INR 5 प्रति व्यक्ति

11. इकलिंगजी मंदिर (Eklingji Temple)

इकलिंगजी मंदिर उदयपुर का लोकप्रिय स्थल है

यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है जो उदयपुर से 22 किमी की दूरी पर स्थित है। इसकी अदम्य वास्तुकला आपको अचंभित कर देगी। यही कारण है कि यह पर्यटक स्थलों में अव्वल दर्जे पर आता है। यह दो मंज़िला मंदिर है जिसकी छत को पिरामिड का आकार दिया गया है। मंदिर के बरामदे में घुसते ही आपको चाँदी से बनी सुंदर नंदी की प्रतिमा देखने को मिलेगी। अंदर भी दो प्रतिमाएँ मिलेंगी, जिनमें एक काले पत्थर की बनी है और दूसरी पीतल से। मंदिर में शिव जी की चतुर्मुखी मूर्ति है, जिसे काले मार्बल से बनाया गया है। यह 50 फीट की विशाल प्रतिमा है।

किसने बनवाया: बप्पा रावल
कब बनवाया: 734 ई.
खुलने का समय: सुबह 4:30 से 7:00 बजे तक, सुबह 10:30 से दोपहर 1:30 बजे तक, शाम 5:00 से 7:30 बजे तक
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: कोई शुल्क नहीं

और जानें: A Guide To Udaipur In Monsoon

12. नाथद्वारा मंदिर (Nathdwara Temple)

द्वारकाधीश मंदिर नाथद्वारा उदयपुर दर्शनीय स्थल में से एक है

राजस्थान के उदयपुर जिले से 42 किलोमीटर उत्तर-पूर्व की ओर स्थित नाथद्वारा शहर, जो कभी सिहाड़ ग्राम के नाम से जाना जाता था, में प्रभु श्रीनाथजी मन्दिर में विराजमान हैं श्रीनाथजी।अतुलनीय कलाकृति व सुंदर मूर्तियों क सौंदर्य देखते ही आँखों में भर लेने का मन करता है। भक्तों की श्रद्धा इतनी गहरी है कि वे समय निकालकर बस यहाँ आ जाना चाहते हैं। भक्ति-भाव व शांति का माहौल इसकी सबसे आकर्षक बात है।

किसने बनवाया: श्रीनाथजी
कब बनवाया: 17वीं शताब्दी
स्थान: नाथद्वारा, राजस्थान 313301
खुलने का समय: सुबह 5:30 बजे से शाम 6 बजे तक
आदर्श अवधि: 1 घंटा
शुल्क: कोई प्रवेश शुल्क नहीं

13. जग मंदिर पैलेस (Jag Mandir Palace)

जग मंदिर प्रसिद्ध पिछोला झील के ठीक बीच में है

इस्लामिक वास्तुकला से बने इस महल का अन्य नाम है – “द लेक गार्डन पैलेस”। इसे संगमरमर व पीले बलुआ पत्थर से बनाया गया है। इसे आठ भव्य आकार की हाथी की मूर्तियों ने घेर रखा है, मानो ये हाथी इसकी रखवाली कर रहें हों। पिचोला झील के दक्षिणी द्वीप पर यह सौंदर्यपूर्ण महल स्थित है। चारों ओर झिलमिलाता पानी व उसके बीच में यह अद्भुत चमकता महल अपनी सुंदरता की गवाही देता है।

किसने बनवाया: महाराणा कर्ण सिंह द्वितीय
कब बनवाया: 17वीं शताब्दी
स्थान: पिछोला, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: प्रति वयस्क 325 रुपये और प्रति बच्चा 165 रुपये (1 घंटे के लिए नाव की सवारी भी शामिल है)

और जानें: A Guide To Udaipur Honeymoon

14. बड़ा महल (Bada Mahal)

बड़ा महल की भव्य इमारत पहाड़ियों पर स्थित है

राजपूत व मुगल वास्तुकला द्वारा बना ये महल वो हिस्सा है जो मुख्य रूप से आदमियों के लिए बना है। चारों ओर से सुंदर बगीचे से सजा महल वातावरण को शोभित कर देता है। राजस्थान के ऐतिहासिक महलों में शामिल यह महल अपनी प्राचीनता को बनाए रखते हुए भी आज एक आकर्षक दर्शनीय स्थल है। इसके सुंदर बगीचों के वजह से इसको गार्डन पैलेस भी कहा जाता है।

किसने बनवाया: महाराणा उदय सिंह द्वितीय
कब बनवाया: 1710 ई
स्थान: राइडर रोड, हरिदास जी की मगरी, शवरी कॉलोनी, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9:30 बजे से 5:30 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: प्रति वयस्क 30 रुपये और प्रति बच्चा 15 रुपये

15. महाराणा प्रताप स्मारक (Maharana Pratap Samarak)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में महाराणा प्रताप स्मारक काफी प्रसिद्ध है

भारतीय इतिहास के महान योद्धा का राजस्थान में बहुत महत्व है। यह स्मारक उनकी वीरता की गवाही देता है। फतह सागर झील के किनारे पर इस स्मारक को बनाया गया है। चेतक पर बैठे महाराणा प्रताप अपने शौर्यवान बलिदान की गाथा कहते हैं। 11 फीट ऊँची इस प्रतिमा को पीतल से बनाया गया है। उदयपुर आकर इस प्रतिभावान मूर्ति को देखना अपने आप में एक अलग ही गर्व की बात है।

किसने बनवाया: महाराणा भगवत सिंह मेवाड़
कब बनवाया: 18वीं शताब्दी
खुलने का समय: सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: वयस्कों के लिए प्रति व्यक्ति 20 रुपये; बच्चों के लिए 10 रुपये; विदेशियों के लिए प्रति व्यक्ति 50 रूपये

और जानें: Resorts Near Udaipur

16. शिल्प ग्राम (Village Shilp)

शिल्पग्राम में बेचे जाने वाले हस्तशिल्प स्थानीय कारीगरों और शिल्पकारों को आजीविका प्रदान करते हैं

भारत के राज्यों में राजस्थान एक ऐसा राज्य है जो कला आदि को बहुत महत्व देता है और यहाँ की कला है भी बेहद प्रसिद्ध। कला हो या हस्तकला या पारंपरिक नृत्य व संगीत, कठपुतलियों के नाटक आदि – ये सभी आधुनिकता के बावजूद भी अपना अस्तित्व बनाए हुए है। उदयपुर से 3 किमी की दूरी पर हवाला गाँव के निकट यह स्थित है। आपको उत्तम श्रेणी की कलाकारी देखने का अवसर प्राप्त होगा।

कब बनवाया: 1989
स्थान: शिल्पग्राम, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 11:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: भारतीयों के लिए 30 रुपये, विदेशियों के लिए 50 रुपये

17. नेहरू गार्डन (Nehru Garden)

नेहरू गार्डन अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर है

फतह सागर झील के बीचों-बीच बसे इस बगीचे में विभिन्न प्रकार के पानी के फव्वारे हैं जो मैसूर के बृंदावन गार्डन से मिलते-झुलते हैं। कल्पना कीजिए एक तैरते हुए रेस्टोरेंट की जो नाव के आकार का हो। रुकिए, आपको कल्पना करने की बिल्कुल ज़रूरत नहीं है क्योंकि यह हकीक़त है। आप रेस्टोरेंट में बैठे खाने का लुत्फ़ उठा रहे हो और आस-पास हो सुंदर नज़ारा। वाह! इसका तो कोई जवाब ही नहीं।

कब बनवाया: 1967
स्थान: वासुपूज्य कॉम्प्लेक्स, 5, मेवाड़ मोटर लिंक रोड, फतेह सागर झील, उदयपुर, राजस्थान, 313001, भारत
खुलने का समय: सुबह 9:00 बजे से 6:00 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: भारतीयों के लिए 30 रुपये, विदेशियों के लिए 125 रुपये

और जानें: Restaurants In Udaipur

18. भारतीय लोक कला म्यूज़ियम (Bharatiya Lok Kala Mandal)

भारतीय लोक कला संग्रहालय की इमारत में राजस्थानी लोक और सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन किया गया है

उदयपुर का ये संग्राहलय बहुत मशहूर है। राजस्थानी संस्कृति को बनाए रखने का स्त्रोत जो आपको मेवाड़ इलाके की अद्भुत विरासत का नमूना दिखाएगा। यहाँ कुछ पारंपरिक वस्तुएँ व कलाकृतियाँ को सँजो के रख गया है। यह कला शिक्षा का केंद्र भी है जहाँ स्थानीय कलाकर व अन्य लोग कला साहित्य के बारे में जानते व समझते हैं। यहाँ आकर आप खुद को भाग्यशाली समझेंगे क्योंकि इतनी अद्भुत कलाकारी आपको यहाँ देखने को मिलेगी।

किसने बनवाया: भारतीय लोक कला मंडल
कब बनवाया: 1952
स्थान: निकट, भारतीय लोक कला मंदिर, चेतक सर्किल, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9 बजे से शाम 6:00 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: भारतीयों के लिए 20 रुपये, विदेशियों के लिए 35 रुपये

19. अमब्रई घाट (Ambrai Ghat)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में से एक अंबराई रेस्तरां है

उदयपुर का सबसे चर्चित घाट जिसे मंझी घाट भी कहा जाता है। सुबह-सुबह यहाँ आपको स्थानीय लोग योगा करते व स्नान करते हुए दिखेंगे। सिर्फ स्थानीय लोग ही यहाँ पर्यटकों का भी खूब आना-जाना होता है। शाम के वक्त आप यहाँ बैठकर शहर की टिमटिमाती लाईटों को देखकर अपनी शाम को खूबसूरत बना सकते हैं। आरती का मधुर स्वर वातावरण को धार्मिक बना देता है।

किसने बनवाया: महाराणा जगत सिंह जी
कब बनवाया: 1734-1752 ई
स्थान: हनुमान घाट रोड, चांदपोल के बाहर, अंबामाता, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: दो लोगों के लिए 900 रुपये

और जानें: Homestays In Udaipur

20. हाथी पोल बाज़ार (Haathi Pol Bazaar)

हाथी पोल मार्केट उदयपुर दर्शनीय स्थल है

अपनी खरीदारी करने की इच्छा को आप यहाँ आकर पूरा कर सकते है। यहाँ आपको चर्चित ब्रैण्ड से लेकर स्थानीय वस्तुएँ मिलेंगी। राजस्थान की पारंपरिकता को झलकाती वस्तुएँ, रंग-बिरंगे हाथ से रंगे राजस्थानी दुपट्टे, चाँदी के आभूषण, सजावटी सामान आदि। यह बाज़ार मुख्य रूप से मिनीएचर पेंटिंग, इच्छवई पेंटिंग व रेशम के कपड़े पर हाथ से की गई पेंटिंग के लिए मशहूर है। यहाँ से आप एक अच्छी याद घर ले जा सकते हैं।

खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
स्थान: जी एन पी * लेस (गिरधर दास नाथू लाल पारिख) 179, बड़ा बाजार, उदयपुर, राजस्थान 313001
शुल्क: INR 80 प्रति व्यक्ति
घूमने की अवधि: 2 घंटे

21. लेक पैलेस (Lake Palace)

पिछोला झील पर बना खूबसूरत लेक पैलेस उदयपुर में घूमने के लिए सबसे महत्वपूर्ण जगह है

दुनिया के सबसे शाही और रोमांटिक होटलों में से एक के रूप में प्रसिद्ध, लेक पैलेस को पहले जग निवास के नाम से जाना जाता था और यह उदयपुर के शीर्ष आकर्षण का केंद्र है। यह रात में उदयपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।
ताज लेक पैलेस प्रसिद्ध पिछोला झील के किनारे स्थित है और हनीमून के लिए उदयपुर के सबसे अच्छे होटलों में से एक है। इस विशाल झील में कई द्वीप शामिल हैं, जिसमें झील महल भी शामिल है। यह रात के समय उदयपुर की सबसे अच्छी जगहों में से एक माना जाता है। झील के माध्यम से एक नाव की सवारी जो आपको उदयपुर के कुछ सबसे लोकप्रिय स्मारकों के माध्यम से ले जाती है।

किसने बनवाया: महाराणा जगत सिंह द्वितीय
कब बनवाया: 1743
स्थान: पिछोला, उदयपुर, राजस्थान 313001
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक
शुल्क: INR 500

और जानें: Holi In Udaipur

22. अहार सेनोटाफ्स (Ahar Cenotaphs)

अहार सेनोटाफ्स का उपयोग शाही परिवार के लिए कब्रगाह के रूप में किया जाता था

अपने पुरातात्विक महत्व के कारण, अहार उदयपुर में पर्यटकों के लिए लोकप्रिय स्थलों में से एक है। पहले इसका उपयोग शाही परिवार के लिए एक प्रमुख कब्रगाह के रूप में किया जाता था। स्मारक स्थल में एक पुरातात्विक संग्रहालय भी है, जिसमें 10वीं शताब्दी के दुर्लभ स्मारकों का एक आकर्षक संग्रह है। एक पर्यटक स्थल के रूप में, यह अपने ऐतिहासिक महत्व और खंडहरों के सदाबहार आकर्षण के कारण भीड़ को आकर्षित करता है।

किसने बनवाया: महाराणा उदय सिंह
कब बनवाया: 15वीं शताब्दी
स्थान: आयड रोड, आयड, गणपति नगर, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10:00 बजे से शाम 4:30 बजे तक।
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: प्रति व्यक्ति 3 रुपये का शुल्क

23. फतेह सागर झील (Fateh Sagar Lake)

खूबसूरत फ़तेह सागर झील उदयपुर के सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षणों में से एक है

यह उदयपुर, राजस्थान में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। फतेह सागर झील राजस्थान की सबसे खूबसूरत झीलों में से एक है। इसमें तीन द्वीप हैं और प्रत्येक में अच्छी तरह से बनाए रखा गया सार्वजनिक पार्क है, जहां नाव की सवारी के माध्यम से पहुंचा जा सकता है। यह शाम बिताने के लिए एक अच्छी जगह है, क्योंकि जब सूरज क्षितिज पर डूबता है तो शहर का दृश्य बेहतर हो जाता है। यदि आप छोटी यात्रा पर हैं, तो इसे एक दिन में उदयपुर में घूमने लायक स्थानों में जरूर शामिल करें।

किसने बनवाया: महाराणा जय सिंह
कब बनवाया: 1678
स्थान: उदयपुर 313001
खुलने का समय: सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: कोई शुल्क नहीं

और जानें: Things To Do In Udaipur

24. कुम्भलगढ़ किला (Kumbhalgarh Fort)

भव्य कुंभलगढ़ किले की दीवार 30 किलोमीटर तक फैली हुई है

उदयपुर शहर से लगभग 64 किमी दूर स्थित, कुंभलगढ़ किला उदयपुर में एक वास्तुशिल्प आश्चर्य है और निश्चित रूप से राजस्थान के सबसे असाधारण महलों और किलों में से एक है। 30 किमी तक फैली विशाल दीवार के साथ, किला समुद्र तल से 1900 मीटर ऊपर है। कुंभलगढ़ किले का सुविचारित वास्तुकार सरल लेकिन प्रभावशाली है। किले तक ड्राइव करना अपने आप में काफी आनंददायक है और किले से मनोरम दृश्य देखने लायक है, जो इसे उदयपुर के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक बनाता है। यदि आप परिवार के साथ उदयपुर में घूमने के लिए सर्वोत्तम स्थानों की तलाश कर रहे हैं, तो कुंभलगढ़ किले को अपने यात्रा कार्यक्रम में शामिल करना न भूलें।

किसने बनवाया: राणा कुम्भा
कब बनवाया: 1458 ई
स्थान: कुम्भलगढ़, राजस्थान 313325
खुलने का समय: सुबह 9:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: भारतीयों के लिए प्रति व्यक्ति 15 रुपये। विदेशियों के लिए प्रति व्यक्ति 200 रुपये

25. बागोर की हवेली (Bagore ki Haveli)

उदयपुर दर्शनीय स्थल बागोर की हवेली में घूमने के लिए सबसे पुरानी और लोकप्रिय जगह है

बागोर की हवेली पिछोला झील के नजदीक स्थित सबसे पुरानी हवेलियों में से एक है। यह राजपूताना विरासत और इतिहास को प्रदर्शित करने वाली सबसे लोकप्रिय दीर्घाओं में से एक है। यह हवेली अपने प्राचीन स्मारकों के लिए जानी जाती है और विशेष रूप से दुनिया की सबसे बड़ी पगड़ी के प्रदर्शन के लिए प्रसिद्ध है। आप उदयपुर में इस दिलचस्प स्थान का आनंद ले सकते है।

किसने बनवाया: अमर चंद बड़वा
कब बनवाया: 1751 से 1778 ई
स्थान: गणगौर घाट मार्ग, होटल गणगौर पैलेस, सिलावटवाड़ी, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9:30 बजे से शाम 5:300 बजे तक
घूमने की अवधि: 2 घंटे
शुल्क: घरेलू के लिए 60 रुपये और विदेशियों के लिए 100 रुपये

और जानें: Boutique Hotels In Udaipur

26. करणी माता मंदिर (Karni Mata Temple)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में से एक करणी माता मंदिर है

उदयपुर में करने के लिए सबसे अच्छी चीजों में से एक करणी माता मंदिर का दौरा करना है। करणी माता उदयपुर में माचला मगरा पहाड़ियों पर स्थित हिंदू देवी करणी माता को समर्पित एक मंदिर है। उदयपुर का यह मंदिर अक्सर दुनिया भर से उन लोगों को आकर्षित करता है, जो उदयपुर और उसके आसपास करने के लिए मज़ेदार चीज़ों की तलाश में हैं। बीकानेर में करणी माता मंदिर, जिसे राजस्थान के चूहा मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह स्थान देखने लायक अद्वितीय आकर्षणों में से एक है। बीकानेर में करणी माता मंदिर हजारों चूहों का घर है। यह स्थान देश और दुनिया भर से पर्यटकों को आकर्षित करता है, यह मंदिर बीकानेर से लगभग 30 किमी दूर देशनोक गांव में स्थित है। यहां पर दूर- दूर से पर्यटक दर्शन करने आते है।

किसने बनवाया: महाराजा गंगा सिंह
कब बनवाया: 15वीं-20वीं शताब्दी
स्थान: एनएच 89, देशनोक, राजस्थान 334801
खुलने का समय: सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: कोई प्रवेश शुल्क नहीं

27. जवाहर नगर (Jawahar Nagar)

जवाहर नगर रोपवे की सवारी के लिए प्रसिद्ध है

उदयपुर आने वाले लोगों के लिए रोपवे की सवारी एक लोकप्रिय पर्यटक गतिविधि बन गई है, क्योंकि इसमें यात्रा करने पर उन्हें जो रोमांच और दृश्य मिलता है, वह झीलों के शहर के आकर्षण को बढ़ाता है। यहां पर टिकटें सस्ती हैं, दृश्य सुंदर हैं और अनुभव अनोखा है। अपने दोस्तों और परिवार के साथ रोपवे की सवारी का अनुभव लेने के लिए जवाहर नगर एक बार जरूर जाएं।

खुलने का समय: सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक
स्थान: खांजीपीर, उदयपुर, राजस्थान 313001
घूमने की अवधि: 2 -3 घंटे
शुल्क: एक राउंड ट्रिप के लिए प्रति व्यक्ति 80/- रूपये

और जानें: Jaipur In March

28. जगत निवास (Jagat Niwas)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में से एक जगत निवास पैलेस से झील का दृश्य खूबसूरत होता है

जगत निवास पैलेस उदयपुर में एक विरासत हवेली है, जो आरामदायक रहने की सुविधा प्रदान करती है। राजस्थानी संस्कृति और मूल्यों के बारे में जानने के लिए इस उत्कृष्ट संपत्ति का दौरा अवश्य करें। इस भव्य महल में विभिन्न प्रकार के कमरे उपलब्ध हैं और स्वादिष्ट नाश्ता परोसा जाता है, जिसका आनंद आप यहां रहने के दौरान ले सकते हैं। यह उन उदयपुर संस्थानों में से एक है – कुछ प्रतीक्षा-कर्मचारी दशकों से आसपास रहे हैं मेनू कॉन्टिनेंटल से लेकर भारतीय भोजन और शानदार शाकाहारी और मांसाहारी विकल्पों तक सब कुछ प्रदान करता है।

किसने बनवाया: महाराणा जगत सिंह द्वितीय
कब बनवाया: 1743 और 1746
स्थान: 23-25 ​​जगदीश मंदिर के पीछे, लाल घाट रोड, उदयपुर, राजस्थान 313001
घूमने की अवधि: 2 -3 दिन
खुलने का समय: सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक
शुल्क: INR 500 प्रति व्यक्ति

29. ट्रिब्यूट (Tribute)

उदयपुर दर्शनीय स्थल ट्रिब्यूट अपने स्वादिष्ट खाने के लिए मशहूर है

फ़तेह सागर में स्थित ट्रिब्यूट रेस्तरां मूलतः महाराणा प्रताप के प्रसिद्ध घोड़े चेतक की एक श्रद्धांजलि है। यह बढ़िया अश्व सजावट और झील के किनारे का खिलता हुआ दृश्य इसे यात्रा कार्यक्रम में अवश्य शामिल करता है। रेस्तरां उत्तर भारतीय, कॉन्टिनेंटल और राजस्थान की विदेशी ब्रेड के साथ जातीय करी परोसता है और उदयपुर में सबसे अच्छे स्थानों में से एक है।

स्थान: 89/बी, अंबामाता मंदिर रोड, मोनिका कॉम्प्लेक्स के पीछे, रंग सागर, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: दो लोगों के लिए 1500 रुपये

और जानें: Places To Visit In Sikar

30. काबा मिस्त्री (Kaba Mistri)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में काबा मिस्त्री में पर्यटकों को भोजन जरूर करना चाहिए

कबाब मिस्त्री एक बढ़िया डाइनिंग रेस्तरां है, जो उत्तर भारतीय और मुगलई, विशेष रूप से कबाब, करी और ओरिएंटल व्यंजनों में विशेषज्ञता रखता है और परोसता है। यह स्थान अरावली पहाड़ियों और पिछोला झील के सुंदर दृश्यों के साथ फतेह सागर में स्थित है और यहां अपने किसी खास व्यक्ति के साथ रात्रि भोज करना शायद उदयपुर में सबसे रोमांटिक चीजों में से एक है। लाइव ग़ज़लें कबाब मिस्त्री के माहौल में अतिरिक्त चमक जोड़ती हैं। इसमें पार्टियों के लिए दो प्रमुख हरे-भरे लॉन भी हैं। उदयपुर में खान के मामले में पर्यटकों के लिए यह जगह सबसे अच्छी है।

किसने बनवाया: शेफ विमल धर
स्थान: गोकुल ग्रांडे, कबाब मिस्त्री, जीजी रेजीडेंसी, 173-174, रोड, गोवर्धन विला, देवली, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: दो लोगों के लिए 1000 रुपये

31. जीवना हवेली (Jaiwana Haveli)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में जीवना हवेली रूफटॉप रेस्तरां का दृश्य पर्यटकों मन मोह लेता है

एक समय जयवाणा के ठाकुर का निजी निवास स्थान रहा जयवाणा हवेली, यदि कोई सुरम्य दृश्यों और उत्कृष्ट मेवाड़ी व्यंजनों की तलाश में है तो यह उदयपुर में एक शानदार छत पर बना रेस्तरां है। यह स्थान बड़ी संख्या में भोजन करने वालों को आकर्षित करता है और इसलिए उदयपुर आने वाले भोजन प्रेमियों के बीच एक लोकप्रिय स्थान है। आपको अपने यात्रा कार्यक्रम में जयवाना हवेली को अवश्य शामिल करना चाहिए क्योंकि यह उदयपुर में 2 दिनों में घूमने के लिए शीर्ष स्थानों में से एक है।

किसने बनवाया: 1995
स्थान: 14, लाल घाट रोड, जगदीश मंदिर के पास, पुराना शहर, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: दो लोगों के लिए 900 रुपये

और जानें: Temples In Jaipur

32. रास लीला (Raas Leela)

रास लीला, उदयपुर दर्शनीय स्थल में सबसे अच्छे रेस्तरां में से एक है

मनोरम दृश्य के साथ झील के पास स्थित, रास लीला उत्तर भारतीय, चीनी, महाद्वीपीय और राजस्थानी व्यंजनों में माहिर है। राजस्थान के स्वादिष्ट स्थानीय भोजन के अलावा और भी काफी चीजों के लिए मशहूर है। साथ ही रेस्तरां काफी किफायती भी है। आगंतुक सेवा और माहौल को रेस्तरां के लिए एक बड़ी संपत्ति मानते हैं।

स्थान: सोनी जी की बाड़ी, लीला के पास, चांदपोल के बाहर, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय:सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: दो लोगों के लिए 750 रुपये

33. सुखाड़िया सर्कल (Sukhadia Circle)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में सुखाड़िया सर्कल प्रसिद्ध है

Image Credit: Ssteaj for Wikimedia Commons

उदयपुर में एक व्यस्त दिन के बाद, आप सुखाड़िया सर्कल जा सकते हैं जहाँ आप आराम कर सकते हैं। यह 21 फुट ऊंचे फव्वारे वाला एक गोल चक्कर है, जिसे 1970 में बनाया गया था। इसका नाम मुख्यमंत्री श्री मोहन लाल सुखाड़िया के सम्मान में उनके नाम पर रखा गया था। लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ फुर्सत के दिन बिताने और शाम को सूर्यास्त का आनंद लेने के लिए इस जगह पर आते हैं।

किसने बनवाया: मोहन लाल सुखाड़िया
कब बनवाया: 1970
स्थान: सुखाड़िया सर्कल,उदयपुर,राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: कोई शुल्क नहीं

और जानें: Kumbhalgarh Fort

34. उदयपुर सौर वेधशाला (UdaipurSolar Observatory)

यह जगह उदयपुर दर्शनीय स्थल में काफी प्रसिद्ध है

Image Credit: Lakhindr for Wikimedia Commons

फतेह सागर झील के द्वीप पर स्थित उदयपुर सौर वेधशाला को पूरे एशिया में सबसे अच्छा सौर अवलोकन क्षेत्र माना जाता है। वेधशाला का उद्देश्य आधुनिक विज्ञान में अनुसंधान करना है और यह चारों तरफ से पानी से घिरा हुआ है, यहां दूरबीनों की एक श्रृंखला है जो आपको सूर्य और अन्य ग्रहों का निरीक्षण कर सकते है। यह उदयपुर के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है।

किसने बनवाया: डॉ. अरविंद भटनागर
कब बनवाया: 1975
स्थान: फ़तेहपुर झील से बड़ी तलाई, रानी रोड, फ़तेहपुर के पास, शिल्पग्राम, उदयपुर, राजस्थान 313001
खुलने का समय: सुबह 9.30 बजे से शाम 5.00 बजे तक (शनिवार और रविवार बंद)
घूमने की अवधि: 1-2 घंटे
शुल्क: कोई शुल्क नहीं

35. क्रिस्टल गैलेरी (Crystal Gallery)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में क्रिस्टल गैलेरी अपने पत्थरों के लिए जाना जाता है

Image Credit: Arian Zwegers for Wikimedia Commons

फतेह प्रकाश पैलेस के अंदर स्थित, क्रिस्टल गैलरी एक विश्व प्रसिद्ध गैलरी है जो दरबार हॉल के फर्श पर फैली हुई है, जिसमें संभवतः दुनिया भर में क्रिस्टल का सबसे बड़ा निजी संग्रह है। 1877 में महाराणा सज्जन सिंह द्वारा निर्मित, यह एक बहुत ही उत्कृष्ट क्रिस्टल गैलरी है जिसमें इत्र की बोतलें, रात के खाने के सामान, गिलास और बहुत कुछ शामिल है जो आपको रॉयल्टी जैसा महसूस कराएगा।

किसने बनवाया: महाराणा सज्जन सिंह
कब बनवाया: 1877
खुलने का समय: सुबह 9.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक
आदर्श अवधि: 1 घंटा
शुल्क: वयस्कों के लिए 700 रुपये और बच्चों के लिए 450 रुपये

और जानें: Taj Lake Palace Udaipur

36. चारकोल बाय कार्लसन (Charcoal By Carlson)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में चारकोल बाय कार्लसन रेस्तरां का राजस्थानी व्यंजन मशहूर है

यह एक प्रामाणिक राजस्थानी रेस्तरां है जो राजस्थानी शैली में शाकाहारी और गैर-शाकाहारी भोजन पकाता है। उनके पास शाकाहारी लोगों के लिए भी कुछ बेहतरीन विकल्प हैं। झील के शानदार दृश्य की पृष्ठभूमि में स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लें और अपने भोजन के दौरान राजस्थान के लोक संगीत भी सुन सकते है। आपको उदयपुर दर्शनीय स्थलों की यात्रा का अनुभव उनके मेनू पर कुछ आज़माए बिना पूरा नहीं होगा और वह भी सुंदर झील पिछोला के बीच में, जो इसे उदयपुर के सबसे अच्छे रेस्तरां में से एक बनाता है।

खुलने का समय: सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक
शुल्क: दो लोगों के लिए 1000 रुपये
घूमने की अवधि: 1 घंटा

37. शीश महल(Sheesh Mahal)

पर्यटक शीश महल रेस्तरां में राजस्थानी खानों का आनंद लेते है

झील के किनारे एक खुली हवा में बढ़िया भोजन वाला भारतीय रेस्तरां, शीश महल रेस्तरां राजस्थानी स्वादों का आनंद लेने के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प है, जो आपके भोजन के अनुभव को बढ़ाएगा। प्रामाणिक और समकालीन स्वादों का आनंद लें, उदयपुर के सबसे अच्छे बढ़िया भोजन रेस्तरां में से एक है ,यहां अक्सर पर्यटक खाने का स्वाद चखने आते है।

किसने बनवाया: शाहजहाँ
कब बनवाया: 16वीं शताब्दी
खुलने का समय: सुबह 11 बजे से रात 11 बजे तक
घूमने की अवधि: 1 घंटा
शुल्क: दो लोगों के लिए 2200 रुपये

और जानें: Udaipur Is World’s Third Best City

38. चेतक सर्कल (Chetak Circle)

उदयपुर में चेतक सर्कल पर एक डोरी से राजस्थानी कठपुतली गुड़िया लटकी हुई है

उदयपुर में एक लोकप्रिय बाज़ार, यह महाराणा प्रताप के वीर घोड़े चेतक की एक प्रतिष्ठित संरचना द्वारा चिह्नित है। यह घेरा विभिन्न दुकानों और भोजनालयों से घिरा हुआ है। आप बाजार में लोक खिलौने, मीनाकारी, दरी, ब्लॉक-मुद्रित सामग्री और जंक आभूषण जैसी कई वस्तुएं खरीद सकते हैं। इस अद्भुत उदयपुर पर्यटन स्थलों की यात्रा करें जो हर कोने से राजस्थान की संस्कृति को दर्शाते हैं।

खुलने का समय: सुबह 10.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक (रविवार बंद)
शुल्क: कोई प्रवेश नहीं
घूमने की अवधि: 1 घंटा

39. हल्दीघाटी (Haldighati)

उदयपुर दर्शनीय स्थल में हल्दीघाटी के नाथद्वारा का दृश्य शानदार लगता है

इतिहास में रुचि रखने वालों के लिए, यह स्थान उदयपुर में घूमने के लिए सर्वोत्तम स्थानों में से एक है। हल्दीघाटी अरावली पर्वत श्रृंखला में एक पहाड़ी दर्रा है जो राजसमंद और पाली को जोड़ता है और यह वह स्थान है जहां 1576 में मेवाड़ के राणा प्रताप सिंह और अंबर के राजा मान सिंह के बीच हल्दीघाटी का प्रसिद्ध युद्ध हुआ था। इस स्थान का नाम इसी से पड़ा है। युद्ध के कारण यहां की रेत का रंग पीला है,जो हल्दी जैसा दिखता है। यह उदयपुर के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है।

खुलने का समय: 12.00 बजे से 12.00 बजे तक
शुल्क: कोई शुल्क नहीं
घूमने की अवधि: 2 घंटे

और जानें: Udaipur Resorts

40. चित्तोड़गढ़ किला (Chittorgarh)

उदयपुर दर्शनीय स्थल चित्तौड़गढ़ किला अपनी विशाल संरचना और वास्तुकला के लिए जाना जाता है

7वीं शताब्दी में मौर्य शासकों द्वारा निर्मित, यह किला एक विशाल संरचना और वास्तुकला का चमत्कार है जो कई द्वारों से सुरक्षित है। चित्तौड़गढ़ किला इतिहास अपनी शानदार वास्तुकला के कारण सबसे चर्चित किलों में से एक है। यह किला उदयपुर के मुख्य शहर से 112 किमी दूर स्थित है और मेवाड़ साम्राज्य में राजपूतों के गौरव और शौर्य का सच्चा प्रतीक है। इसके अलावा, चित्तौड़गढ़ किले में पद्मावती महल को भी नहीं भूलना चाहिए। इस स्थान पर इन सभी चीजों को दखने पर्यटक दूर- दूर से आते है।

किसने बनवाया: चित्रांगद मोरी
कब बनवाया: 7वीं शताब्दी ई
स्थान: चित्तौड़ किला रोड, चित्तौड़गढ़, राजस्थान 312001
खुलने का समय: सुबह 9.30 बजे से शाम 5.00 बजे तक
शुल्क: भारतीयों के लिए 5 रुपये और विदेशियों के लिए 100 रुपये; साउंड और लाइट शो टिकट के लिए 50 रुपये
घूमने की अवधि: 2 घंटे

और जानें: Destination Wedding In Udaipur

उदयपुर के पर्यटन आपको राजा-महाराजाओं के तौर-तरीकों, उनकी रुचियों, इतिहास, आदि से पूर्णतः अवगत करवा देंगे। शानदार, आलीशान महलों को देखकर आप तृप्त हो जाएंगे और कुछ पलों के लिए ये पूरी तरह भूल जाएंगे कि आप कहीं और से यहाँ विचरण करने आए हैं क्योंकि कुछ ही पलों में इस जगह ने आपको अपना बना लिया होगा। एक बार अवश्य यहाँ आकर खुद को इस जगह के हवाले करके देखिए। अपनी उदयपुर यात्रा के लिए ट्रैवल ट्राऐंगल से बुकिंग कीजिए।

हमारी संपादकीय आचार संहिता और कॉपीराइट अस्वीकरण के लिए कृपया यहां क्लिक करें

उदयपुर के दर्शनीय स्थल के विषय पर अक्सर पूछे जानेवाले सवाल:-

उदयपुर किस लिए मशहूर है?

जैसा कि सभी जानते हैं कि उदयपुर “झीलों का शहर” है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता, संस्कृति व पारंपरिकता को बरकरार रखने के लिए व कलाकृति के लिए विश्व भर में मशहूर है।

उदयपुर का सबसे आकर्षक स्थान कौनसा है?

पिचोला झील उदयपुर का सबसे आकर्षक स्थान है जिसे आपको प्राथमिकता देनी चाहिए। सराहनीय व सौंदर्यपूर्ण दृश्य आपको अपने वश में कर लेगा। आप यहाँ किसी के साथ भी आ सकते हैं। आपको आनंदमयी करने का वादा यह झील आपसे करेगी।

जयपुर या उदयपुर में कौन बेहतर है?

दोनों जगहें अपने आप में अनूठी हैं, जयपुर एक बहुत व्यस्त शहर है, जिसमें शाही स्पर्श भी है। दूसरी ओर, उदयपुर कम भीड़ के साथ अधिक शांतिपूर्ण है। इसलिए, यदि आप एक शांतिपूर्ण छुट्टी की तलाश में हैं तो उदयपुर आपके लिए सही जगह है।

क्या उदयपुर जयपुर से अधिक महंगा है?

जयपुर की तुलना में उदयपुर थोड़ा महंगा है, दोनों जगहों पर औसत लागत अलग-अलग है, जिसमें यात्रा, आवास और दर्शनीय स्थलों की यात्रा जैसे सभी खर्च शामिल हैं।

उदयपुर में कौन सी चीज़ प्रसिद्ध है?

उदयपुर अपने शानदार महलों, प्राचीन झीलों और जीवंत बाजारों के लिए जाना जाता है जहां लोग राजस्थान के प्रामाणिक और रंगीन गहने और कपड़े खरीद सकते हैं।

उदयपुर घूमने का सबसे अच्छा समय क्या है?

उदयपुर घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों का मौसम है, क्योंकि तापमान सुखद और आरामदायक रहता है। उदयपुर में छुट्टियों की योजना बनाने के लिए सबसे अच्छे महीने सितंबर, अक्टूबर, नवंबर, फरवरी और मार्च हैं।

उदयपुर में ठहरने के लिए सबसे अच्छा जगह कौन सा है?

उदयपुर में ठहरने के लिए सबसे अच्छे क्षेत्र जगदीश मंदिर के पास, झील के किनारे या लाल घाट क्षेत्र हैं। इन क्षेत्रों में होटलों का किराया 1500 रुपये से 5000 रुपये प्रति रात के बीच है।

और पढ़ें:-


Looking To Book A Holiday Package?

Book memorable holidays on TravelTriangle with 650+ verified travel agents for 65+ domestic and international destinations.


Category: Places To Visit, Udaipur

Best Places To Visit In India By Month

Best Places To Visit Outside India By Month