• Things to do
  • Places to visit
  • Hotels and resorts
  • Honeymoon packages
  • Holiday packages
  • Real Traveler Stories

    Ujjain

    भारत के हृदय में बसे उज्जैन मध्य प्रदेश का हिस्सा है-उज्जैन जो कि एक तीरथ स्थल है। शिप्रा नदी के पूर्वी तट पर बसी यह जगह चार धामों के जैसी मोक्ष यात्रा से परिचित कराती है। शायद आप भूले ना हो कि यह हर बारह वर्ष बाद कुंभ का मेला लगता है। हर कुंभ मेले के दौरान यहाँ लाखों की तादाद में यात्रियों का सैलाब उमड़ता है। हिंदुओं का यह मुख्य तीरथ स्थल श्रद्धालुओं को भक्ति -भाव में लीन कर देता है। उज्जैन के दर्शनीय स्थल आपके मन को ऐसी शांति प्रदान करेंगे की आप कुछ वक्त के लिए अपने दुख से छुटकारा पा जाऐंगे। ऐसी पूजा-पाठ जो आपको साक्षात भगवान के चरणों के करीब ले जाएगी। अपने धार्मिक, वास्तुकला व शैक्षिक मूल्यों से यात्रियों को आकर्षित करता है।

    10 उज्जैन के दर्शनीय स्थल

    आइए चलते है उज्जैन की सैर पर जहाँ आपको नदी व भक्ति की पवित्रता से खुद को डूबोने का अवसर मिलेगा:

    1. महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग

    draws a huge crowd in aarti

    Image Source

    उज्जैन का यह प्रमुख हिंदु मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह उज्जैन के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है जहाँ आपको इसकी प्रतिवर्ष होती सजा-सज्जा देखने को मिलेगी। महाशिवरात्रि व श्रावण मास के हर सोमवार को मंदिर की सजावट प्रशंसनीय होती है और इस दौरान श्रद्धालुओं की भारी भीड़ यहाँ उमड़ती है।

    और जानें: Restaurants In Ujjain

    2. हरसिद्धी माता मंदिर

    three idols of goddess durga

    Image Source

    रुद्र सागर झील के समीप स्थित यह मंदिर भी उज्जैन का प्रमुख मंदिर है। कहा जाता है कि दो राक्षसों का वध करने के लिए देवी पार्वती ने हरसिद्धी माता का रूप धारण किया था। उन्हीं को समर्पित है यह अद्भुत मंदिर। मंदिर में दो स्तंभ है जिन्हें हर शाम जलाकर मंदिर को जगमगाया जाता है। भव्य मंदिर के बीच में हरसिद्धी माता की गहरे केसरिया रंग की मूर्ति है जिसके पास में लक्ष्मी व माँ सरस्वती की प्रतीमा भी स्थित है। इस मंदिर का निर्माण मराठा काल के दौरान हुआ था।

    और जानें: Historical Places In Ujjain


    Looking To Book A Holiday Package?

    Book memorable holidays on TravelTriangle with 650+ verified travel agents for 65+ domestic and international destinations.


    3. बड़े गणेशजी का मंदिर

    idol of ganesh

    Image Source

    जैसा कि आपको नाम से ही समझ आ रहा होगा इस मंदिर में स्थापित गणेशजी की प्रतिमा का आकार भव्य है। सुबह और शाम की आरती आपको भक्ति-भाव में लीन कर देगी। यहाँ आकर आप संस्कृत व ज्योतिष विद्या को सीख कर अपने ज्ञान में बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। गणेशजी की मूर्ति की सुंदरता देखते ही बनती है। स्थानीय लोगों में इसकी बहुत मान्यता है और यही मान्यता अब दूर-दराज तक फैल रही है।

    और जानें: Hotels In Ujjain

    4. ईस्कॉन मंदिर

    lovely and boast fine craftsmanship

    Image Source

    राधा-कृष्ण की गवाही देता यह मंदिर बेहद आकर्षक है। यह स्थल कृष्ण, बलराम व सुदामा का शैक्षिक स्थान है इसलिए यहाँ कृष्ण भक्तों की बड़ी तादाद है। मंदिर सफ़ेद पत्थर से सुसज्जित है व इसके चारों तरफ हरी घासों का बगीचा है जो आँखों को ठंडक देता है। उज्जैन के फोटो में ये मंदिर अवश्य शामिल रहता है। मंदिर में राधा-कृष्ण की गोपियों के साथ व कृष्ण की बलराम के साथ अनोखी प्रतिमा स्थापित है। सुबह से शाम तक बजते हरे कृष्ण हरे राम के जाप आपको आनंदित कर देंगे।

    और जानें: Mahakaleshwar Temple In Ujjain Guide

    5. कालियादेह महल

    persian achitecture

    Image Source

    फारसी वास्तुकला से बना यह महल शिप्रा नदी के किनारे स्थित है, सिर्फ एक किनारे नहीं बल्कि महल के दोनों किनारों पर नदी बहती है। प्रकृति के अनोखे नज़ारे को आप यहाँ बखूबी देख पाऐंगे और इसलिए यात्री यहाँ छुट्टी के दिन पिकनिक मनाने आते है। हर तरफ पानी, हरियाली, सुंदर महल-इन सभी का संगम जहाँ होता है वहाँ की शोभा में चार चाँद लग जाते है और इसी सौंदर्य के गवाह वे सभी यात्री जो साल-दर-साल यहाँ की शरण लेने आते हैं। यह सिर्फ उज्जैन का ही नहीं बल्कि पूरे मध्य प्रदेश का प्रमुख दर्शनीय स्थल है।

    और जानें: Places To Visit In Ujjain


    Planning your holiday but confused about where to go? These travel stories help you find your best trip ever!

    Real travel stories. Real stays. Handy tips to help you make the right choice.


    6. कुंभ मेला

     Kumbh Mela

    अपने अंतःमन को शुद्ध व पापों से छुटकारा पाने के लिए उज्जैन की शिप्रा नदी में डुबकी लगाइए। कुंभ मेले के दौरान करोड़ों की संख्या में यात्री इसकी पवित्र नदी में अपने पाप धोने आते हैं। हर तरफ आस्था का माहौल व मंत्रों का उच्चारण आपको आध्यात्मिकता के रंगों से ले जोडेगा। बच्चों से बूढ़ों, जवान तक हर व्यक्ति इसकी शरण लेते हैं। पवित्रता के सराबोर में डूबने यात्री यहाँ आते है ताकि भक्ति -भाव से मन को शांति प्रदान कर सकें। फूलों व अगरबत्ती की खुशबू पूरे क्षेत्र को महका देती है।

    7. राम मंदिर

    thousands of devotees come here

    जैसे की नाम से ही आप परिचित हो गए होंगे कि यह मंदिर भगवान राम को समर्पित है जहाँ भगवान राम की प्रतिमा के एक तरफ सीता व दूसरी तरफ लक्ष्मण की प्रतिमा स्थापित है। वास्तुकला के नज़रिए से यह एक बहुत अच्छा उदाहरण है। मूर्तियों से लेकर चित्रकला तक सब कुछ तारीफ के काबिल है। इनकी कलात्मकता देखते ही बनती है। इसी कारण यह देखने लायक जगह है जहाँ आप आकर अपनी राम भक्ति के रंग में रंग सकते हैं।

    और जानें: Places To Visit In Madhya Pradesh

    8. डबल्यू डबल्यू एफ वॉटर पार्क व रिज़ॉर्ट

    Water Parks In Kerala cover

    अपने भक्ति-भाव से कुछ पल का विराम लेकर आप यहाँ अपनी यात्रा को रोमांचक बनाने के लिए यहाँ आ सकते हैं। यहाँ बच्चों व बड़ों के लिए उनकी सुविधानुसार पूल बनाए गए हैं जहाँ आप पानी में खेलते हुए पूरा लुत्फ़ उठा सकते हैं। वॉटर पार्क के मज़े लेकर थकने के बाद आपके रुकने का प्रबंध भी यहाँ बखूबी किया गया है। आप अपने परिवार व साथियों के साथ मौजूदा रिज़ॉर्ट में आराम फरमा सकते हैं। आध्यात्मिक के साथ-ही-साथ अपनी यात्रा को रोमांच से भरने का आप अपने हाथ से जाने नहीं दे पाऐंगे।

    और जानें: National Parks Of Madhya Pradesh

    9. भर्तहरी केव

    Limestone Caves

    उज्जैन के पर्यटक स्थलों में शुमार ये गुफा शिप्रा नदी के तट पर, गधकलिका मंदिर के पास स्थित है। इस जगह राजा विक्रमादित्य के भाई ने अपनी आरामदायक ज़िंदगी सांसारिक सुख-दुख, रिश्ते-नाते का मोह त्याग करके कई सालों तक ध्यान किया था। उनके कड़े ध्यान के बाद इस गुफा को उन्हीं का नाम-भर्तहरी दिया गया। कहा जाता है कि वे बहुत विद्वान पुरुष थे, लस गुफा में उनकी समाधि को सँजोकर रखा गया है। यहाँ का माहौल आपको शांति का अनुभव करवाएगा।

    10. पीर मत्स्येनद्रनाथ

    pir-matsyendranath-samadhi

    Image Source

    सफ़ेद पत्थर से बनी यह जगह नाथ संप्रदाय के शैव प्रमुख के नाम पर बनाई गई है। इसे कलात्मक दृष्टि से अव्वल कहा जा सकता है। मत्स्येनद्रनाथ को शैव अनुयायियों द्वारा पीर कहा जाता था इसलिए इस स्थल के नाम में पीर को शामिल किया गया है। यह जगह हिन्दू व मुस्लिम दोनों ही धर्मों के लिए पूजनीय स्थल है इसलिए यहाँ ज़्यादा यात्री आकर्षित होते हैं।

    और जानें: Monsoon In Madhya Pradesh Guide

    जैसा की सभी जानते है कि हिन्दू धर्म के लोग भगवान, पूजा-पाठ, श्रद्धा-भक्ति में बहुत अधिक रुचि रखते हैं। अपनी रुचि को मंज़िल देते हुए यहीं ठहर जाइए और अपनी आधयात्मिकता में डुबकी लगाने के लिए तैयार हो जाइए, क्योंकि आप एक ऐसे पवित्र स्थल में आ चुके है जो हर वक्त मंत्रों के उच्चारण से गूँजता रहता है। अपने जीवन का थोड़ा समय तो आपको यहाँ आकर बीताना ही चाहिए ताकि आप शांति के वातावरण से आँखें चार कर सके। अपनी कष्टों भरी ज़िंदगी से निवारण पाने के लिए आप एक लंबी छुट्टी यहाँ आकर बिता सकते हैं। उज्जैन के पर्यटन स्थल आपकी आस्था को सच कर दिखाऐंगे। अपनी उज्जैन यात्रा के लिए ट्रैवल ट्राऐंगल से बुकिंग कीजिए।


    Looking To Book An International Holiday?

    Book memorable holidays on TravelTriangle with 650+ verified travel agents for 65+ domestic and international destinations.


    Comments

    comments

    Category: Places To Visit, Ujjain

    Best Places To Visit In India By Month

    Best Places To Visit Outside India By Month